Recent Updates
Home / Anjeer / एनजाइना प्रेक्टोरिस पहुँचा सकता है आपके हार्ट को भारी नुक्सान, तो हो जाइये सावधान………….

एनजाइना प्रेक्टोरिस पहुँचा सकता है आपके हार्ट को भारी नुक्सान, तो हो जाइये सावधान………….

Share this now

एनजाइना प्रेक्टोरिस पहुँचा सकता है आपके हार्ट को भारी नुक्सान, तो हो जाइये सावधान………

 

Hello Friends” स्वागत है आपका हमारे आयुर्वेद में । दोस्तों अपने कभी एनजाइना प्रेक्टोरिस के बारे में सुना है। आखिर क्या होता है ये एनजाइना प्रेक्टोरिस । इसका हमारी सेहत से क्या सम्बन्ध है । दोस्तों  एनजाइना प्रेक्टोरिस  हिंदी में सीने का दर्द का होना है ।  जो हार्ट अटैक के लक्षण होते है।  दोस्तों एनजाइना प्रेक्टोरिस के होने से पता चलता है कि हृदय तक पहुंचने वाले खून का प्रवाह कम हो गया है  ।यानि हमारे दिल को पूर्ण रूप से ऑक्सिजन नहीं मिल पा रही है ।   जिससे हार्ट अटैक  आने की सम्भावना बढ़ जाती है। दोस्तों अंजयना  दो प्रकार का होता है पहला स्थिर एनजाइना दोस्तों यह दर्द तब होता है जब आप कोई भारी कम कर रहे हो । इसका दर्द थोड़ी देर आराम करने पर ठीक हो जाता है। दूसरा अंजयना अस्थिर एनजाइना दोस्तों इसका कोई भी पूर्वाभास नहीं होता । यह अचानक ही होने वाला एनजाइना होता है अगर इसका समय पर इलाज नहीं किया गया  तो इससे दिल का दोरा भी पड़ सकता है ।




दोस्तों अगर आप शुगर के मरीज है तो आप हो सकता है एनजाइना को महसूस न कर पाए । ऐसे में आपको सतर्क रहना होगा । दोस्तों अस्थिर एनजाइना के होने पर तुरंत ही डॉक्टर को दिखाना चाहिए ।

*दोस्तों एनजाइना प्रेक्टोरिस  के कारणों को भी जानना जरुरी है।*

दोस्तों शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा के बढ़ने से  दिल को सही प्रकार से ब्लड सप्लाई नहीं हो पता जिससे की हार्ट को होने वाली ब्लड सप्लाई बहुत ही कम हो जाती है। ब्लड फ्लो के कम होने से हार्ट को उचित मात्रा में ऑक्सिजन नहीं मिल पाती। जिससे की धमनिया फूलने  लगती है जिससे उपरांत  छाती में दर्द होने लगता है  इसी को ही एनजाइना प्रेक्टोरिस कहा जाना  है।

 

*एनजाइना प्रेक्टोरिस में  परहेज*

 

  • दोस्तों सबसे पहले हमें सोडियम वाले पदार्थो को खाना बंद कर देना है, और नमक तो बिलकुल ही न खाएं।
  • दोस्तों जिन पदार्थो में ज्यादा मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है उन पदार्थो का सेवन न करे जैसे अंडा, चिकन, पनीर, दाल इत्यादि।
  • दोस्तों तले हुए पदार्थ बिलकुल न खाएं इससे शरीर में कॉलस्ट्रोल तथा वासा की मात्रा बढ़ती है
  • मदिरापान व धूम्रपान जैसे अन्य नशों का भी सेवन न करे ।





major

 

 *एनजाइना प्रेक्टोरिस के घेरलू उपाय*

    • नियमित व्यायाम करे
    • सुबह शाम बाहर की ठंडी व स्वच्छ हवा की आनंद ले।
    • वजन को न बढ़ने दे।
    • डॉक्टर की सलाह से नियमित दवा ले। व  उन  गतिविधियों की तरफ ध्यान दे जिनसे अंजयना बढ़ रहा है जैसे ब्लड प्रेशर,  शुगर, वसा , कोलस्ट्रोल की मात्रा आदि
    • साफ व स्वच्छ आहार खाएं । जिनमे पोषक तत्व ज्यादा मात्रा में पाए जाते हो। हरी सब्जियों व फलों का सेवन
    • ज्यादा मात्रा में करे ।
    • अपने यूरिक एसिड को कम रखने की कोशिश करे ।
    • दोस्तों एनजाइना से राहत  पाने के लिए गरम पेय पदार्थो का सेवन करे  गर्म पेय पदार्थ गैस , सूजन के साथ साथ पाचन तंत्र को एनजाइना करते है ।
    • दोस्तों अंजयना से बचने के लिए अंगूर का सेवन करे। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते है जो हमारे दिल को शक्ति प्रदान करते है इसके अंदर विटामिन सी  भी पाया जाता है




  • दोस्तों प्याज एनजाइना के दर्द को कम करने के साथ साथ इसको रोकता भी है इसमें कई ऐसे तत्व है जो कोलस्ट्रोल को कम करते है। एनजाइना के इलाज के लिए कच्चे प्याज खाना बहुत ही लाभकारी है ।
  • छाती के दर्द को कम करने के लिए रोजाना टमाटर का उपयोग करना चाहिए टमाटर के तत्व छाती के दर्द को कम करने में हमारी मदद करते है
  • दोस्तों तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसके उपयोग से छाती के दर्द को बहुत जल्दी कम किया जा सकता है । तुलसी बड़े हुए कॉलस्ट्रोल को कम करती है और हार्ट को मजबूत करती है ।  हार्ट को मजबूत करने के लिए रोजाना एक चम्मच तुलसी का रस और  एक चम्मच शहद दोनों को मिलाकर खाना चाहिए ।




Check Also

सिर्फ मुट्ठी भर चने खाने से शरीर की बड़ी से बड़ी बीमारी का होगा जड़ से सफाया और शरीर में आएगी नयी स्फूर्ति व नया जोश व शरीर का हो जाएगा कायाकल्प

Share this nowभुने चने खाने से शरीर को होंगे इतने फायदे कि आप भी रह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »