Recent Updates
Home / Major Disease / Back Pain / “किडनी”…….. की बीमारी को जड़ से ख़त्म करने के लिए अपनाये ये कुछ रामबाण उपाए……

“किडनी”…….. की बीमारी को जड़ से ख़त्म करने के लिए अपनाये ये कुछ रामबाण उपाए……

Share this now

“किडनी”…….. की बीमारी को जड़ से ख़त्म करने के लिए

अपनाये ये कुछ रामबाण उपाए……

 

“Hello” दोस्तों आज के इस भाग दौड़ भरे समय में हम अपने स्वास्थय का ध्यान रखना भूल जाते है जिसके कारण हमारे शरीर में बहुत सी बीमरिया पनपने लगती है जिनमे से एक है किडनियों का ख़राब होना दोस्तों किडनियों का खराब होना कैंसर और लिवर ख़राब होने के बाद आने वाली दूसरी वह बड़ी बीमारी है। जिसका इलाज बहुत ही मुश्किल है तो दोस्तों क्यों न हम इन सब बीमारियों के हमारे पास आने से पहले ही इन सब बीमारियों के लिए एक सुरक्षा कवच तैयार करे जिससे की इन सब बीमारियों से बचा जा सके जिससे कि हम अपनी हस्ती खेलती जिंदगी को बरक़रार रख सके | दोस्तों आज हम आपको अपनी किडनियों का धयान रखने के बारे में बताने जा रहे है:-




हमारी किडनियां (Kidney) शरीर के सबसे नाज़ुक और महत्वपूर्ण भीतरी अंग हैं । अक्सर हम सोचते हैं कि ज्यादा शराब पीना नशे इत्यादि करने वालो की ही किडनी ख़राब होती है. लेकिन ऐसा नहीं है बहुत से ऐसे लोग है जो कोई नशा इत्यादि नहीं करते लेकिन उनकी किडनिया फिर भी ख़राब हो जाती है । तो सोचिये ऐसा क्यों होता है दोस्तों ऐसा इसलिए होता है क्योकि हम अपने स्वास्थय का ठीक प्रकार से ध्यान नहीं रख पते ।

दोस्तों जब हमारी किडनिया ख़राब होने लगती है तो हमें इसका जरा भी अंदाजा नहीं होता क्योकि हमारी किडनिया अपने 20 % के लेवल तक पहुंचने तक भी निरंतर लगातार अपना काम करती रहती है किडनी को पहुंचने वाला नुकसान या इसकी काम करने की क्षमता में कमी आने का पता बहुत देर से चलता है जब हमारा क्रिएटनीन लेवल 1.5 से बढ़कर ६-७ तक हो जाता है क्योंकि किडनियां अपनी कैपेसिटी के 20% लेवल तक पहुंचने पर भी अपना काम बखूबी करती रहती हैं। तो आइये दोस्तों जानते है सबसे पहल;इ जानते है हम हमारी किडनियों के कार्य |……………



किडनियों के कार्य :-

1. किडनी हमारे खून को साफ करती हैं व् पेशाब के जरिये अपशिस्ट को बाहर निकालती है ।
2. शरीर में Hormones बनाती हैं जिससे की रोगो से लड़ने की क्षमता शरीर में बानी रहती है ।
3. किडनी जहरीले तत्वों को शरीर से बाहर निकालती हैं जिससे की शरीर तंदरुस्त बना रहता है ।
4 . शरीर के यूरिक Acid को बाहर निकल एसिड लेवल को कंट्रोल करती है ।

किडनी की बीमारी के लक्षण (Symptoms of kidney disease):- 

दोस्तों जब किडनी की बीमारी बढ़ने लग जाती है तो बहुत से ऐसे लक्षण है जो हमारे शरीर में दिखाई देने लग जाते है । जैसे पेशाब में खून आना या झाग आना, पेशाब कम होना, अतिरिक्त थकान, भूख कम लगना, चिडचिडापन होना किसी से बात न करना , एकाग्रता में कमी, एनीमिया, कमजोरी, सांस लेने में दिक्कत होना, ब्लड प्रेशर का लगातार बार बार बढ़ना । मतली और उलटी होना,शुगर बढ़ना, सीने में दर्द, हाथ-पैर, टखने, चेहरे में सूजन आना, पीठ में दर्द, शरीर में यूरिक एसिड व् क्रिएटनीन की मात्रा का बढ़ना, पोटाशियम की मात्रा का बढ़ना आदि.





 

किडनी की बीमारी के कारण  (Due to kidney disease):- 

1. नमक की अधिक मात्रा का सेवन करना –

भोजन में नमक की अधिक मात्रा का सेवन करने से हड्डियों से कैल्शियम कम होने लगता है। और कैल्शियम के काम होने से शरीर में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है, जिससे किडनियों के द्वारा मूत्र के जरिए बाहर निकाल दिया जाता है लेकिन सोडियम के साथ-साथ कैल्शियम भी शरीर से बाहर निकल जाता है जिससे ऑस्टियोरोरोसिस और अल्सर का खतरा बढ़ जाता है।
वहीं मूत्र में कैल्शियम की मात्रा बढ़ने से गुर्दे की पथरी होने की सम्भावना बढ़ जाती है इसके आलावा अधिक मात्रा में नमक के सेवन से ब्लड प्रेशर की बीमारी बनने लग जाती है जिसका असर हमारे हार्ट पर पड़ता है। एक खोज के मुताबिक पता चला है की हमें दिन भर में नमक का 5 ग्राम से अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

2. सही मात्रा में पानी नहीं पीना –

जब हम पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीते हैं तो हमारे शरीर में जितने भी वेस्ट मैटेरियल और टॉक्सिन्स है वो हमारे शरीर में ही रह जाते है जिनका जमाव हमरे किडनियों पर ही होत्ता है और वो ठीक प्रकार से काम नहीं कर सकती किडनियों का सबसे ज़रूरी काम Blood को फिल्टर करके उसमें से वेस्ट मैटेरियल और Toxins को पेशाब के रास्ते बाहर निकालना है और जब हमारी किडनिया ब्लड को फ़िल्टर करके उसमे से वेस्ट मटेरियल को बहार नहीं निकल पाती तो समाज जाइये की आपकी किडनिया ख़राब होने लगी है



3. अधिक मात्रा में शुगर लेना –

भोजन में अत्यधिक चीनी लेना हमारी सेहत के लिए हानिकारक होता है जब हम अधिक मात्रा में चीनी का सेवन करते है तो शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है और वह प्रोटीन पेशाब के जरिये बाहर आने लगता है और प्रोटीन का बाहर आना किडनियों पर बुरा प्रभाव डालता है।

4. अत्यधिक समय तक मूत्र विसर्जन न करना :-

ज्यादा समाये तक मूत्र विसर्जन न करने से हमारे यूरिनरी सिस्टम पर असर पता है जिससे किडनियों के ख़राब होने का खतरा बाद जाता है।

5. शरीर में विटामिन और मिनरल्स की कमी होना:-

किडनियों को हेल्थी रखने के लिए साफ व् संतुलित पोषक आहार की आवश्यकता होती है यदि हम पोषक आहार ही न ले तो हमरे शरीर में विटामिन्स की मात्रा कम हो जाती है और यह विटामिन्स हमें हरी सब्जियों और ताजे फलो से मिलते है। जिनका स्थान आज के फ़ास्ट फ़ूड ने लिया है

6. ज्यादा मात्रा में कॉफ़ी का सेवन करना

जैसा की आप सब जानते है की जिस प्रकार से शरीर में नमक की अत्यधिक मात्रा हमरे ब्लड प्रेशर को बड़ा देती है ठीक उसी तरह कॉफ़ी की ज्यादा मात्रा में ब्लड प्रेशर को बड़ा देती है और किडनियों के ख़राब होने का सबसे बड़ा कारण ब्लड प्रेशर का बढ़ना है।



7. पैरासिटामोल और पेनकिलर का अधिक प्रयोग ।

जब कोई व्यक्ति बुखार या फिर बॉडी पैन में ज्यादा पेनकिलर और पेरासिटामोल व् पेनकिलर का उपयोग करता है तो इनका सीधा असर हमारी किडनियों पर पड़ता है। पैरासिटामोल जैसी दवाइया हमारे किडनियों के काम करने की शक्ति को काम कर देती है। इसलिए जितना ज्यादा हो सके इन दवाइयों का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह लिए बिना नहीं करना चाहिए।

8. ज्यादा मात्रा में अल्कोहल का सेवन करना।

दोस्तों आज के समय में नशा करना आम होता जा रहा है जितना हम इन बुराइयों की तरफ बढ़ते जा रहे है उतना ही हम अपने आप को मौत के तरफ ले जा रहे है । दोस्तों शराब इत्यादि का सेवन करना हमरे लिए बहुत ही खतरनाक है शराब का सेवन हमारी किडनियों को नुकसान देता है। आज से समय में किडनी के ५० % से ज्यादा मरीज अल्कोहोल सेवन के वजह से है।

आयुर्वेदिक इलाज

दोस्तों आज किडनियों के इलाज के लिए मेडिकल साइंस ने घुटने रख दिए है मेडिकल साइंस में किडनी इलाज के लिए केवल डायलिसिस और किडनी ट्रांसप्लांट ही बाकि रह गया है । हमारे डॉक्टर हमें केवल यही सलाह देते है की यदि आप डायलिसिस करवाते हो तो आप अपने जीवन को बचाये रख सकते हो नहीं तो आप किडनी की बीमारी में ज्यादा दिन तक जिन्दा नहीं रह सकते या फिर आपको किडनी ट्रांसप्लांट के लिए बोल दिया जाता है । किडनी ट्रांसप्लांट कोई इस बीमारी का उपचार नहीं है।




यदि आप अपने खान पान का ठीक से ध्यान नहीं रखे तो आप दोबारा आपकी किडनी ख़राब होने का खतरा बढ़ जाता है। और किडनी ट्रांसप्लांट इतना महंगा होता है जिसको आम लोग नहीं करवा पाते तो दोस्तो आप लोगो को अब घबराने की कोई जरूरत नहीं है ।आयुर्वेद की सहायता से हम अपने शरीर को एक दम तंदरुस्त रख सकते है किडनी की बीमारी में केवल आयुर्वेद ही एक ऐसा मूल मंतर है जिससे की हम अपनी किडनियों की शक्ति को दोबारा पा सकते है।

 

आयुर्वेद है रामबाण :-

दोस्तों आज हम आपको कुछ खास नुस्को के बारे में बताने जा रहे है जिससे आप अपनी किडनी की बीमारी को ठीक कर सकते हो

राम बाण औषधि गोखरू कांटा :-

दोस्तों आयुर्वेद ने यह सिद्ध कर दिखाया है की किडनी रोग के लिए गोखरू ही एक मात्र रामबाण है। यह आयुर्वेद में पाए जाने वाले दशमूल में से एक है । गोखरू के चारो तरफ कांटे होते है जिससे की इसको गोखरू कांटे के नाम से जाना जाता है ।

 

 

 

गोखरू कांटा को बनाने की विधि :-

250 ग्राम गोखरू लेकर 4 लीटर पानी में उबलन लीजिये। जब पानी 1 लीटर रह जाये तो पानी को छानकर एक बोतल में रख लीजिये और कांटे को फेक दीजिये। अब इस काढ़े को सुबह श्याम गुनगुना करके 100 ग्राम लीजिये। काढ़ा पिने के 1 घंटे के बाद ही कुछ खाइये
15 दिन के बाद यदि आपकों कुछ परिवर्तन नजर आये तो डॉक्टर की सलाह से दवाइया बंद कर दीजिये। जैसे जैसे आपकी सेहत में सुधर होने लगे तो काढ़े की मात्रा को काम कर दीजिये। हम आपको यकींन दिलाते है की आप किडनी ट्रांसप्लांट का विचार त्याग देंगे।




पुनर्नवा:-

पुनर्नवा एक ऐसी आयुर्वेदिक औषिधि है जो आपकी किडनी में दोबारा जान दाल सकती है इसके लगातार उपयोग से बोहत से लोगो की किडनिया दोबारा काम करना शुरू करने लग गयी है आइये जानते है

पुनर्नवा अर्क बनाने की विधि :-

दोस्तों पुनर्नवा अर्क बनाए के लिए हमरे इसके जड़ो को उपयोग में लाना होता है इसके लिए पुनर्नवा की जेड लेकर उन्हें अच्छे से साफ़ कर के रख ले।
फिर एक बर्तन में पानी गरम करते उसमे आपको इन जड़ो को डाल देना है और धीमी आंच पर इसको पकाना है पर रहे पानी के ऊपर से आपको भाप को एक बर्तन में इकठा करना है क्युकी जो भाप बनेगी उनको ही आपको प्रयोग करना है। इससे आपका आर्क तैयार हो जाये गए | इसलके बाद आप 2 लीटर पानी को उबाल लीजिये और इस अर्क को थोड़ा थोड़ा रोजाना आप उस उबले हुए पानी में डाल कर किसी भी समय पीजिये | इससे आपकी किडनियों को बोहत जल्दी फायदा होगा |

 

 

दोस्तों ऊपर लिखी जितनी भी जानकारी हमनें आपको दी है ये सभी हमारी किडनियों के लिए बोहत जरुरी है यदि आप सब अगर हमारे द्वारा बताये गए किडनी खराब होने के लक्षण व् इनकी सावधानियों की तरफ ध्यान दे तो किडनियों को ख़राब होने से बचाया जा सकता है।
दोस्तों अगर आपको जानकारी अछि लगी हो तो कृपा शेयर करना न भूले।



Check Also

अगर आपकी हड्डियों से भी आती है कट कट की आवाज तो आजमाए ये घरेलु नुस्खे जो सिर्फ सात दिन में दिलाएंगे इसके साथ ही दर्द की समस्या से भी छुटकारा

Share this nowहड्डियों से कट कट की आवाज और दर्द को खत्म करने के आयुर्वेदिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »