Recent Updates
Home / Black Salt / दिल की सभी ब्लॉकेज नसों और बीमारियों को दूर देगा ये घरेलु नुस्खा…….

दिल की सभी ब्लॉकेज नसों और बीमारियों को दूर देगा ये घरेलु नुस्खा…….

Share this now

आयुर्वेद अपनाओ , अपने दिल को स्ट्रांग बनाओ और अपनी जिंदगी को डॉक्टरों से

बचाओ ……….!

 

 

दोस्तों !हम सभी एक स्वस्थ और खुशहाल जिन्दगी जीना चाहते है लेकिन क्या ऐसा हो रहा है।खुशहाल जिन्दगी जीने के लिए लोग पैसे के पीछे भाग रहे है लेकिन इस भाग दौड़ में वो अपने स्वास्थय को नजरअंदाज कर रहे है परन्तु हम सभीं जानते है कि अगर स्वास्थय ही ठीक नहीं है तो हम खुशहाल जिंदगी नहीं जी सकते।सही समय पर न खाना और गलत चीजों को खाना कई प्रकार की बीमारियों को बुलावा देता है ।वैसे तो आदमी कई प्रकार की बीमारियों का शिकार  हो जाता है और उनके लक्षण भी हमे दिखाई देते है लेकिन कई ऐसी बीमारियां होती है जिनके हमे पहले से कोई लक्षण दिखाई नहीं देते है और न ही शरीर में कुछ महसूस होता है जिससे हम समय रहते कोई सावधानी रख सके । ऐसी ही एक बीमारी है  हार्ट अटैक (दिल का दौरा), लेकिन फिर भी कुछ लक्षण ऐसे होते है जो हमे इस बीमारी के बारे में संकेत दे देते है जैसे- सीने में जलन व दर्द होना , थकान , चक्कर आना , सूजन आना व लगातार सर्दी का बने रहना और साँस लेने में परेशानी होना ,जब दिल की नलिया  ब्लॉकेज होना शुरू कर देती है तो हार्ट अटैक होने की समस्या पैदा होती है।

 

आज हर कोई डॉक्टरों के पीछे भाग रहा है लेकिन क्या आपको पता है हमारे देश में बहुत समय से आयुर्वेद को संजीवनी  माना जाता है ।आयुर्वेद के पास हर उस बीमारी का इलाज है जिसके लिए डॉक्टर आपसे इतनी महंगी कीमत वसूल करते है ।आप उसी बीमारी को आयुर्वेद की मदद से बहुत ही कम पैसो और बीमारी का स्थाई इलाज कर सकते है ।हम सब यही मानते है कि हार्ट अटैक का इलाज सिर्फ ऑपरेशन द्वारा ही संभव है परन्तु आयुर्वेद ही एक ऐसा रास्ता है जिसकी मदद से हम बिना ऑपरेशन किए इस बीमारी का इलाज कर सकते है ।

आज हम आपको एक ऐसे ही असरदार नुस्खे  के बारे में बताने जा रहे है जिससे आप बिना किसी डॉक्टर और बिना किसी दवाई के इस बीमारी से छुटकारा पा सकते है ।

इस  नुस्खे में आपको जिस सामग्री की जरूरत होगी वो है :-

  • लौकी
  • तुलसी के पत्ते 7 -10 (इच्छानुसार )
  • पुदीने के पत्ते 7 -10 (इच्छानुसार )
  • काला या सेंधा नमक (आवश्यकतानुसार )

उपयोग करने की विधि :-

आप लौकी लीजिये और उसको अच्छे से धोकर उसका जूस निकाल लीजिये। आप इसका सीधे ऐसा ही सेवन कर सकते है । वैसे तो यह इस तरह भी बहुत लाभकारी होता है लेकिन अगर आप इसे और भी अधिक लाभकारी बनाना  चाहते  है तो आप  इसमें तुलसी और पुदीने के 7 -10 पत्ते मिला सकते है। पत्तो के साथ – साथ इसमें नमक (स्वादानुसार )भी मिला  ले परन्तु ध्यान रहे की नमक काला या फिर सेंधा ही हो ।

इसके बाद आप  इस जूस को हर  रोज सुबह खाली पेट या फिर नाश्ते के आधा घंटे के बाद  कम से कम 200 से 300 मिलीग्राम पिए ।

आप जब इसे प्रीतिदिन पीना शुरू कर देंगे तो आपको कुछ ही दिनों में इसका असर दिखना शुरू हो जाएगा।आप इसे 2 -3 महीनो तक लगातार उपयोग में लाये जिससे यह आपके दिल की सभी ब्लॉकेज नसों को खोल देगा और आपको किसी भी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अगर ये  नुस्खा  आपको सही लगा  हो व आपके काम आ सके तो इसे जरूर आजमाए और अपने किसी अन्य मित्र व रिश्तेदार जो कोई इस बीमारी से पीड़ित है तो ये आयुर्वेदिक  औषद्यि उनके साथ भी शेयर करे ।

धन्यवाद…….. !

 

Check Also

चिकनगुनिया और मलेरिया जैसे जानलेवा बुखार का काल है इस आयुर्वेदिक औषधि की सिर्फ तीन खुराक

Share this nowचिकनगुनिया जैसे खतरनाक बुखार का काल है ये औषधि………. हैलो दोस्तों ! आज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »