Recent Updates
Home / Health / बल वीर्य स्तम्भन बढाने और पुरुष रोगों में ग़ज़ब है सेमल का स्वरस How to Improve Sex Performance

बल वीर्य स्तम्भन बढाने और पुरुष रोगों में ग़ज़ब है सेमल का स्वरस How to Improve Sex Performance

Share this now

बल वीर्य स्तम्भन बढाने और पुरुष रोगों में ग़ज़ब है सेमल का स्वरस How to Improve Sex Performance
Download our Mobile App for all Video: – https://goo.gl/txgp3K
Find us on Facebook: – https://facebook.com/healthsolution.co.in
सेमल को इंग्लिश में सिल्क कॉटन tree कहा जाता है. इसके फलों से निकलने वाली रुई पहले गद्दों और तकियों के भरने में काम में ली जाती थी.
सेमल के नए पौधे की जड़ को सेमल का मूसला कहते हैं, जो बहुत पुष्टिकारक, कामोद्दीपक और नपुंसकता को दूर करनेवाला माना जाता है । सेमल का गोंद मोचरस कहलाता है । यह अतिसार को दूर करनेवाला और बलकारक कहा गया है । इसके बीज मदकारी होते है; और काँटों में फोड़े, फुंसी, घाव, छीप आदि दूर करने का गुण होता है For More Visit http://www.doctorfit.co.in
वन विभाग ने विभिन्न नर्सरियों में सेमल के एक हजार से अधिक पौधे तैयार किए हैं। विशालकाय होने से जहां यह गर्मियों में छाया की सुखद अनुभूति देते हैं। वहीं इन पर लगने वाले लाल व सफेद फूल भी आकर्षित बनाते हैं। इनकी छाल, पत्ते,फूल व बीज का उपयोग किडनी गनोरिया सहित कई रोगों के निदान के लिए किया जाता है। मान्यता है कि इन्हें आंगन में लगाने पर सांप आदि विषैले जीव जंतु घर में नहीं आते।
आज हम आपको Crazy India की तरफ से आपको बताने जा रहें हैं सेमल का पुरुषों के लिए ऐसा प्रयोग जो उनके बल वीर्य स्तम्भन बढाने में बेहद रामबाण है.
सेमल की मूसली के स्वरस में थोड़ी मिश्री मिला कर रोज़ सवेरे शाम पीने से अपार बल वीर्य बढ़ता है, शरीर की कान्ति निखरती और पुष्टि होती है. प्रमेह धातु की कमजोरी और शरीर की क्षीणता में सेमल की मूसली अव्वल दर्जे की चीज है. ये फकीरी नुस्खा है जिसमे कोई ज्यादा खर्च भी नहीं आता है. जो मज़ा अमीरों को हज़ारों रुपैये खर्च कर के भी नहीं आता वो इस सेमल की मूसली से बिना पैसे खर्च किये ही मिल जाएगा.
सेमल का स्वरस बनाने की विधि
जिस सेमल के वृक्ष में फल ना आयें हो अर्थात सेमल का नया वृक्ष उस सेमल के वृक्ष की नयी या कच्ची मूली या मूसली को खोद कर धुलाई कर लीजिये. इसको सिल पर खूब कूटो और महीन पीसो. पिस जाने पर रेजी या मलमल के कपड़े में रख कर, किसी मिटटी या कांच के बर्तन में निचोड़ लें. बस, यही सेमल का स्वरस है.
इसके स्वरस में थोड़ी मिश्री मिला कर पीने से इसका नित्य सेवन करने से अपार बल वीर्य बढ़ता है, स्तम्भन शक्ति बढती है शरीर की कान्ति निखरती और शरीर पुष्टि अर्थात कमज़ोर शरीर वाले हट्टे कट्टे हो जातें है. सेमल की मूसली के स्वरस की मात्रा 1 से 2 तोले तक है. अर्थात रोगी को अपने रोग अनुसार 10 से 25 ग्राम तक इसका सेवन करना चाहिए. यह सूजाक जैसे रोगों में भी अत्यंत प्रभावकारी है.
# बल वीर्य स्तम्भन बढाने और पुरुष रोगों में ग़ज़ब है सेमल का स्वरस,# सेमल का स्वरस बनाने की विधि,#crazy india,#health solution,#health tips,#www.doctorfit.co.in,#how to cure sex problems solution in ayurveda,#ayurveda for healthy life,#amazing home remedy for sex solution in ayurveda,#how to improve sex power,#how to increase sex time,#how to improve sex performance,#amazing remedy for sex solution,#semal health benefits,#sex solution with semal,#how to increase sex power with semal,
Channel Link:-https://www.youtube.com/c/crazyindiahealth

Check Also

अगर आपकी हड्डियों से भी आती है कट कट की आवाज तो आजमाए ये घरेलु नुस्खे जो सिर्फ सात दिन में दिलाएंगे इसके साथ ही दर्द की समस्या से भी छुटकारा

Share this nowहड्डियों से कट कट की आवाज और दर्द को खत्म करने के आयुर्वेदिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »