Recent Updates
Home / Health / Acidity / यूरिक एसिड के कारण, लक्षण और इससे छुटकारा पाने के उपाय

यूरिक एसिड के कारण, लक्षण और इससे छुटकारा पाने के उपाय

Share this now

यूरिक एसिड के कारण, लक्षण और इससे छुटकारा पाने के उपाय

 

“नमस्कार दोस्तों”  आज हम आपको बताने जा रहे है यूरिक एसिड के बारे में । दोस्तों आज की युवा पीढ़ी की आदते  बहुत ज्यादा बदल गयी है है  । लोगो के रहन – सहन के तरीके बदल गए है दोस्तों मानव शरीर में पाएं जाने वाले तत्वों का संतुलन बना रहना बहुत ही ज्यादा जरुरी होता है ।इनके असंतुलन से शरीर में सेकड़ो बीमारियों का वास हो जाता है उन्ही में से एक है यूरिक एसिड ।  दोस्तों सबसे पहले तो यह जानना बहुत जरुरी है कि ये यूरिक एसिड होता क्या है। दोस्तों इसका  मुख्य कारण  प्यूरिन का टूटना है प्यूरिन खाद्य पदार्थो में पाया जाने वाला पदार्थ है जिसका विसर्जन मूत्र के द्वारा कर दिया जाता है। लेकिन कई बार कई कारण से यह हमारे शरीर से बाहर नहीं निकल पता।  वैसे तो यूरिक एसिड किडनियों द्वारा  मूत्र के जरिये  बाहर निकल दिया जाता है। लेकिन  कुछ करने से यह हमारे शरीर में ही रह जाता है जिस  कारण  बहुत सी बिमारिया बढ़ने लग जाती है।  इसके बढ़ने से गठिया  तथा जोड़ो के दर्द सम्बन्धी बिमारिया हो जाती है ।

 

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण

 

  • यूरिक एसिड के बढ़ने से थकान  महसूस होने लगती है ।
  • यूरिक एसिड के बढ़ने  से  हाथों- पैरों के  जोड़ो में  दर्द होना शुरू हो  जाता है।
  • यूरिक एसिड के बढ़ने से गाठों में सूजन आने लगती है ।
  • यूरिक एसिड के बढ़ने पेशाब में जलन होना  शुरू हो जाती है।
  • यूरिक एसिड के बढ़ने से ब्लड शुगर, हार्ट अटैक व किडनी फेलियर जैसी बीमारिया होने लगती है।

 

यूरिक एसिड बढ़ने के कारण

 

 

  • प्यूरिन से यूरिक एसिड का उत्पादन ज्यादा होना।
  • किडनियों द्वारा मूत्र का विसर्जन में भी यूरिक एसिड का बाहर न निकाल पाना।
  • हमारे शरीर में आयरन की मात्रा का ज्यादा होना।
  • समय पर भोजन न करने या फिर ज्यादा भोजन करने से भी शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।
  • शरीर में लगातार थाइराइड का बढ़ना भी यूरिक एसिड को जन्म देता है।
  • शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने और मूत्र बढ़ाने वाली दवाओं का सेवन काने से भी यूरिक एसिड बढ़ता है।
  • धूम्रपान व शराब आदि नशों का सेवन करने से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।

 

यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या ना करें।

बढ़ते हुए यूरिक एसिड को रोकने के लिए सबसे पहले इसके परहेज के बारे में जानना बहुत ही जरुरी है क्योकि किसी भी बीमारी का इलाज करने के लिए परहेज  बहुत ही जरुरी होता है । बढे हुए यूरिक एसिड को काम करने के लिए सबसे पहले हमें अपने खान पान की तरफ ध्यान देना चाहिए। क्योकि हमारे खाद्य पदार्थो में कुछ पदार्थ ऐसे  होते है जो यूरिक एसिड को बढ़ा देते है। इसलिए ऐसे आहार  का सेवन करें जिसमे प्रोटीन काम मात्रा में पाया जाता हो । प्रोटीन युक्त पदार्थ जैसे दाल, मीट, अंडा, पनीर आदि का सेवन बिलकुल ना करे। प्रोटीन हमरे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को और भी ज्यादा बढ़ा देता है।  इसलिए जितना हो सके इन पदार्थो से दूर रहे। रात को सोते समय दूध का सेवन बिलकुल ना करें।

 

 यूरिक एसिड को काम करने के  घेरलू उपाय :-

पहला उपाय

 

दोस्तों बढ़े हुए यूरिक एसिड और गठिया के दर्द को काम करने में नींबू, अदरक, अजमोद और खीरा काफी असरदार होते है। दोस्तों इस औषधि को बनाने के लिए आधा नींबू, एक इंच अदरक, दो हरे अजमोद की डंडिया और  एक खीरा  लें।  इन सभी सामग्री को अच्छे से धोकर इनको काट लें।  फिर इसको नींबू के रस में ब्लेंड कर लें और आपका काढ़ा बनकर तैयार है।  इस काढ़े को आपको सुबह खाली पेट और शाम को खाने के बाद  सोने से पहले सेवन करना है।  दोस्तों जल्द ही आपको यूरिक एसिड और गठिया के दर्द से निजात मिलना शुरू हो जायेगा। 

 

 

दूसरा उपाय

दोस्तों धनिया एक एंटीऑक्सीडेंट होता है। धनिये के एक गिलास जूस का रोजाना सेवन करने से गठिया के दर्द में काफी सुधार मिलता है  यूरिक एसिड के लेवल को काम करने के लिए सेब का सिरका भी  काफी मददगार  होता है सेब के सिरके को अगर पानी में डाल कर पिया जाये तो  इससे  यूरिक एसिड को काम किया जा सका है।

 

*तो दोस्तों ये थे यूरिक एसिड को काम करने के कारन और उपाय ,दोस्तों अगर आपको  हमारे द्वारा दी गयी जानकारी जरूर पसंद आयी हो तो Please Share करना न भूलें।    “धन्यवाद “* 

 

 

Check Also

पाइल्स के दर्द को दूर करने का रामबाण उपाय है ये घरेलू नुस्खा जो मात्र 1 दिन में दिलाएगा पाइल्स के दर्द से छुटकारा और बीमारी को कर देगा जड़ से खत्म

Share this nowपाइल्स के दर्द के लिए संजीवनी है ये देसी उपाय हैलो दोस्तों ! …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »