Recent Updates
Home / Health / Acidity / शरीर की हर बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज है “कलौंजी”…………

शरीर की हर बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज है “कलौंजी”…………

Share this now

Kalaunji ! Kalaunji ! Kalaunji Ke Unginaat Faayde  

दोस्तो! आज हम आपको ऐसे संजीवनी के बारे में बताने जा रहे है जिसका उपयोग करके आप अपने स्वास्थय को बिना किसी दवाई का उपयोग किये  स्वस्थ रख सकते है, वो संजीवनी और कुछ नहीं आप सभी के घर की रसोई में उपयोग की जाने वाली “कलौंजी” है

सतयुग में लक्ष्मण के लिए थी संजीवनी,कलयुग में आपकी संजीवनी है “कलौंजी”…..!

आइये, हम आपको बताते है कलौंजी का सेवन कैसे करे और अपने शरीर को स्वस्थ बनाये …..




वैसे तो कलौंजी को बहुत से तरीको से उपयोग में लाया जा सकता है, पर हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताएंगे जिनमे आप बिना किसी झंझट के कलौंजी का उपयोग करके अपने जीवन और स्वास्थय दोनों को सुधार सकते है ।

KALAUNJI IN SKIN DISEASE (त्वचा के रोगो को दूर करने में गुणकारी)

आज की प्रदूषण भरी जिंदगी में कई तरह की बीमारियां जन्म ले रही है उन्ही बीमारियों में से एक है "त्वचा विकार”(SKIN DISEASE)

# त्वचा के रोग को दूर करने के लिए कुछ मात्रा में कलौंजी ले और उसे मिहीन (बारीक) पीस ले, उसके बाद उसमे कुछ मात्रा सिरके की मिलाये, उसके बाद सोते समय अपने चेहरे पर लगा ले और सुबह उठकर ठन्डे पानी से मुँह धोलें। इस विधि से मुहासो की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

# अगर आप खुजली की समस्या से परेशान है तो आप कलौंजी का उपयोग करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते है, इसके लिए आप 50 ग्राम कलौंजी के बीज ले और उन्हें पीस ले। इसके बाद 10 ग्राम हल्दी और 10 ग्राम बिल्व के पत्तो का रस इसमें मिला कर लेप बना ले और खुजली वाली जगह पर प्रतिदिन लगाए। इसके उपयोग से आपको कुछ ही दिनों में खुजली की समस्ये से छुटकारा मिल जाएगा ।




#कलौंजी को पीस कर मिहीन (बारीक) चूर्ण बना ले और उसमे नारियल का तेल मिला ले, इस मिश्रण से मालिश करने से भी त्वचा के रोग नष्ट होते है ।

KALAUNJI IN DIABETES (मधुमेह में उपयोगी)

आज के समय में जो एक बीमारी गंभीर समस्या बनती जा रही है वो है “डॉयबिटीज “।आज के समय में हर दूसरा व्यक्ति  इस बीमारी का शिकार हो रहा है।इस बीमारी को कम करने में भी कलौंजी बहुत सहायक है।

#आप इसके लिए हर रोज 2 ग्राम कलौंजी का सेवन करे।इसके उपयोग से डॉयबिटीज जैसे बीमारी से निजात पा सकते है।

KALAUNJI IN CANCER (कैंसर को मात देने में सहायक)

कैंसर” एक ऐसी बीमारी है जिसके नाममात्र से लोगो के मन में डर सा बैठ जाता है लेकिन आज के समय में इस बीमारी ने एक गंभीर रूप धारण कर लिया है। इस बीमारी को दूर करने में भी कलौंजी बहुत सहायक सिद्ध होती है।

#इसके लिए आप 1 गिलास अंगूर का रस ले और उसमे थोड़ी सी मात्रा में कलौंजी का तेल मिला ले।इस मिलाये हुए मिश्रण को दिन में तीन बार पिए। इसको पीने से आप कैंसर की समस्या को दूर कर सकते है।

KALAUNJI IN STOMACH PROBLEM (पेट की हर बीमारी में सहायक)

पेट की बीमारी को दूर करने में भी “कलौंजी” एक महत्वपुर्ण औषधि का काम करती है। आज के खान पान से पेट की बीमारिया बढ़ती जा रही है।लोगो का सही समय पर न खाना और बाहर की चीजों का सेवन जैसे फ़ास्ट फ़ूड, डिब्बाबंद खाने का सेवन पेट की बीमारियों को बुलावा देता है । इन बीमारियों से छुटकारा पाने में कलौंजी बहुत लाभदायक होती है। कलौंजी के उपयोग करने के तरीके हम आपको बताते है जिससे आप पेट की समस्या से छुटकारा पा सके।




#अगर आपको पेट में गैस की समस्या है तो आप जीरा, अजवायन और कलौंजी को बराबर मात्रा में पीस कर उसका चूर्ण बना ले और प्रतिदिन खाना खाने के बाद एक चम्मच चूर्ण पानी के साथ ले। इससे गैस की समस्या को दूर किया जा सकता है ।

# छोटे बच्चों में ज्यादातर पेट में कीड़ो की समस्या पाई जाती है जो उनके स्वास्थय पर बुरा असर डालती है। इसके लिए आप कुछ मात्रा में 10 ग्राम कलौंजी को पीस ले और 3 चम्मच उसमे शहद मिला ले, फिर इसको कुछ दिनों तक बच्चे को नियमित सेवन कराये, इससे पेट में हुए कीड़े ख़तम हो जाते है।

#”कब्ज” एक ऐसी बीमारी है जिसने लोगो के पेट में घर बना रखा है। इसको दूर करने के लिए आधा चम्मच कलौंजी का तेल, 5 ग्राम चीनी, 4 ग्राम सोनामुखी व 1 गिलास गरम दूध ले और इन सभी चीजों को मिला कर रात को सोते समय ले । इससे कब्ज को दूर किया जा सकता है।

# बड़ो और बच्चो दोनों में पेट दर्द होना एक आम समस्या है क्योकि आजकल का खान पान इस तरीके का हो गया है कि यह बीमारी को बुलावा दे ही देता है।इसके लिए आप एक गिलास मौसमी के रस में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और दो चम्मच शहद मिला कर दिन में दो बार पिए, इससे आपको पेट दर्द की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

KALAUNJI IN HAIR PROBLEM (बालो की समस्या का इलाज हे कलौंजी)

अगर आप बालो की समस्या से परेशान है जैसे कि बालो का गिरना, उम्र से पहले बालो का सफ़ेद हो जाना, गंजापन तो इस समस्या को भी दूर करने में भी कलौंजी बहुत सहायक सिद्ध होती है ।




# इसके लिए आप 50 ग्राम कलौंजी को एक लीटर पानी में उबाल ले और बाद में इस पानी से बालो को धोएं इससे आपके बाल झड़ना बंद हो जाएंगे और लम्बे व घने भी हो जाएंगे।गंजेपन को दूर करने के लिए कलौंजी को जला कर उसे पीस ले और अपने हेयर आयल में मिला कर लगाए, इससे आपके सिर पर नए बाल उग जाएंगे।

KALAUNJI IN KIDNEY STONE (पथरी में लाभदायक)

“पथरी ” एक ऐसी बीमारी है जो एक बार खत्म होने के बाद भी बार – बार शरीर में जन्म ले ही लेती है। यह बीमारी बच्चो व बड़ो सभी को अपनी चपेट में ले ही लेती है । कलौंजी का सेवन करने से आप पथरी की बीमारी को बिना कोई ऑपरेशन कराये दूर कर सकते है ।

बवासीर” एक ऐसी बीमारी है जिसे किसी के सामने बताने में भी लोग शर्म महसूस करते है।इस बीमारी के लिए कलौंजी को रामबाण औषधि माना जाता है ।

# इसके लिए आप कुछ मात्रा में कलौंजी ले और उसे जला कर पीस ले । फिर इसे बवासीर के मस्सों पर रोज लगाएं। नियमित रूप से उपयोग करने से आप इस बीमारी से छुटकारा पा सकते है ।

KALAUNJI IN ASHTMA (दमे के प्रभाव को दूर करने में लाभदायक)

आज चारो तरफ बढ़ता हुआ  प्रदूषण कई बीमारियों को बुलावा दे रहा है , उन्ही में से एक बीमारी है “दमा ” जिसको हम  अस्थमा भी कहते है ।वैसे तो इसका कोई स्थायी इलाज नहीं है लेकिन फिर भी कुछ घरेलु नुस्खों से इसके प्रभाव को कम किया जा सकता है । इन घरेलु नुस्खों में एक है कलौंजी जो दमा को कुछ हद तक कम कर सकती है । आइये जानते है कलौंजी का उपयोग कैसे करे ….




#आधा चम्मच कलौंजी के तेल में दो चम्मच शहद मिला कर खाए और इसके साथ ही आधा चम्मच कलौंजी के तेल में एक चम्मच घी और चुटकी भर नमक मिला कर अपने गले व छाती पर मालिश करें। इस विधि का उपयोग करने से आपको दमा की बीमारी में कुछ हद तक आराम मिलेगा ।

KALAUNJI IN EYE PROBLEM (आँखों के लिए फायदेमंद)

पहले समय में चश्मा लगाएं हुए सिर्फ बुजुर्ग लोग ही नजर आते थे लेकिन आज के समय में तो छोटे -छोटे बच्चो को भी चश्मा लगाना पड़ रहा है ।आँखों की कई बीमारियां जैसे लाली आना, सूजन , पानी बहना व रोशनी कम होना बढ़ती जा रही है । इन सबको दूर करने के लिए कलौंजी बहुत लाभदायक है ।

#कलौंजी के तेल को रुई के साथ रात को सोते समय पलकों पर और आँखों के चारो तरफ लगाए । इससे आप आँखों के सभी रोगो से निजात पा सकते है ।

HELPFUL IN COUGH COLD (सर्दी जुकाम में सहायक)

मौसम के बदलते ही जुकाम- खांसी  जैसी बीमारी बढ़ने लगती है ।यह बीमारी हर किसी को अपनी चपेट में  ले ही लेती है ।हमारा इम्युनिटी सिस्टम (रोगो से लड़ने की क्षमता ) इतना शक्तिशाली नहीं रहा  कि रोगो से लड़ सके , क्योकि खान पान कि वजह से ये कमजोर हो गया है ।इन बीमारियों को दूर करने में कलौंजी का उपयोग सहायक होता है ।सर्दी झुकाम में कलौंजी का उपयोग कैसे करे …..




#अगर आप पुराने जुकाम से परेशान है तो आधा चम्मच कलौंजी का तेल, एक चौथाई चम्मच जैतून का तेल को आधा कप पानी में उबाल ले और जब तक उबाले जब तक कि उसका पानी खत्म न हो जाए । पानी ख़त्म होने के बाद उसमे तेल ही रह जाएगा, उस बचे हुए तेल को छानकर रख ले और रोज दो से तीन बूँद अपने नाक में डाले । इससे आपका पुराने से पुराना जुकाम भी ठीक हो जाएगा ।

#अगर किसी को धूल- मिट्टी से एलर्जी होती है तो उसे छींके आना एक आम बात है । छींको की समस्या को दूर करने के लिए कुछ मात्रा में सूखे काले चने व कलौंजी को हल्का सा तवे के ऊपर भून ले और मसलकर किसी कपड़े में बाँध कर सूंघे ।इससे छींके आना बंद हो जाती है।

Check Also

अगर आपकी हड्डियों से भी आती है कट कट की आवाज तो आजमाए ये घरेलु नुस्खे जो सिर्फ सात दिन में दिलाएंगे इसके साथ ही दर्द की समस्या से भी छुटकारा

Share this nowहड्डियों से कट कट की आवाज और दर्द को खत्म करने के आयुर्वेदिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »