Recent Updates
loading...
Home / Health / Acidity / दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!! Amazing Health Benefits of Cinnamon & Honey Mixture

दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!! Amazing Health Benefits of Cinnamon & Honey Mixture

Share this now

untitled-design-2




दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!!

दोस्तों हम सभी अपने घर में जब भी खाना बनाते है तो हम उस खाने में अनेक मसालों का प्रयोग भी करते है I

उन अनेक मसालों में से एक मसाला ऐसा है जो केंसर और हार्ट अटैक जैसी बड़ी बड़ी बीमारियों को ठीक कर देता है वो मसाला है दालचीनी जिसे मसालों की रानी कहते है

आपने मसालों की रानी, दालचीनी का उपयोग तो कई बार किया ही होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दालचीनी में हर बीमारी का इलाज करने की क्षमता होती है। और जब हम दालचीनी के साथ शहद का प्रयोग भी करते है  तो इससे कई गुना फल मिलता है I

शहद और दालचीनी का मिश्रण कई बीमारियों का रामबाण इलाज़ माना  जाता है | ये कई बिमारियों से हमे छुटकारा दिला सकता है | हजारों सालों से चलता आ रहायह नुस्खा  स्वास्थ्य विशेषज्ञों दुवारा भी प्रमाणित हो चुका है I इसलिए दालचीनी का प्रयोग हमे आवश्यक रूप से करना चाहिये I




दालचीनी का प्रयोग सभी लोग अपनी -अपनी जानकारी के हिसाब से करते है जैसे इजिप्ट वासी इस नुख्से का इस्तेमाल घावों को भरने के लिए, ग्रीक वासी इस का इस्तेमाल अपनी जीवनशैली  को लम्बा बनाने के लिए और भारतीय लोग  इस का इस्तेमाल अपने स्वास्थ्य को संतुलित बनाये रखने के लिए कई साल पहले से करते आ रहे है |

अगर अब तक आप  इसके गुणों से अनजान हैं, तो जरूर पढ़े दालचीनी और शहद के यह अनमोल गुण और उससे होने वाले चमत्कारिक फायदे –

#  .कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए :- इस मिश्रण के द्वारा आप बहुत ही आसानी से अपने कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण कर सकते है | 1 कप पानी में 2 चम्मच शहद और 3 चम्मच दालचीनी मिला कर सेवन करने से 2 घंटे में आपका 10% कोलेस्ट्रॉल कम हो जयेगा |



15 दिनों में 5kg वजन कम करे इस रामबाण औषधि के प्रयोग से Amazing Drink for Quick Weight loss





#     ह्रदय रोग –  जब भी हम हार्ट से सम्बंधित किसी भी तरह की दिक्कत में होते है तो हार्ट  को स्वस्थ बनाए रखने और हार्ट के रोगों पर नियंत्रण रखने में दालचीनी बहुत ही  सहायक होती है, क्योंकि यह हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकती है। हररोज शहद और दालचीनी का गर्म पानी के साथ सेवन करने से भी आपको बहुत सारे लाभ मिलेंगे । आप दालचीनी और शहद के मिश्रण को रोटी के साथ भी खा सकते हैं। इसके अलावा दालचीनी को चाय में डालकर भी ले सकते हैं। इसके प्रयोग से हार्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है।

#      गठिए से राहत – गठिया में हमारे शरीर के सभी जोड़ों में हर वक्त दर्द होता रहता है तो जोड़ों में दर्द होने पर दालचीनी का प्रयोग आपको राहत देता है। इसके लिए प्रतिदिन दालचीनी का गर्म पानी में सेवन करना चाहिए और दालचीनी के हल्के गर्म पानी की दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से भी जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।इसके पानी को एक महीने तक सेवन करने से चलने फिरने में असमर्थ लोग भी चलने में सक्षम हो जाते हैं।

#      पित्ते(galblader )का  इन्फेक्शन :– इस औषधि से गालब्लैडर का इन्फेक्शन भी दूर हो जायेगा | अगर आप सामग्री की मात्रा को बढ़ाना चाहते हो तो 2 चम्मच दालचीनी और एक या दो चम्मच शहद को  उबले हुए पानी में डाल कर भी सेवन कर सकते है | शहद को गर्म नहीं करना है पानी उबालने के बाद शहद मिक्स करना है I




#       सर्दी-खांसी –  सर्दी, खांसी या गले की तकलीफों में दालचीनी बेहद असरकारक दवा के रूप में काम करती है। दालचीनी को  पीसकर एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी मात्रा में खाने से जुकाम में लाभ मिलता है। आप गर्म या गुनगुने पानी में दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं। दालचीनी के पाउडर को पिसी हुई काली मिर्च के साथ सेवन करने से भी राहत मिलती है। इससे पुराने से पुराने  कफ में भी राहत मिलेगी।

#        पेट के रोग- अपच, गैस, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर लेने से आराम मिलता है। इससे उल्टी-दस्त की समस्या में भी लाभ होता है, और भोजन का पाचन भी बेहतर होता है। शहद और दालचीनी के पावडर का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।

#         कैंसर- दालचीनी का प्रयोग करने से  कैंसर जैसे रोग पर भी नियंत्रण पाना संभव हो गया है। वैज्ञानिकों ने अमाशय के कैंसर और हड्डी के बढ़ जाने की स्थति में दालचीनी और शहद को लाभदायक बताया है। एक महीने तक गर्म पानी में दालचीनी पाउडर और शहद डाल कर इसका सेवन करने से बेहद फायदा होता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है, जिससे शरीर बीमारियों से लड़ सके |

#          मोटापा – मोटापे को ख़त्म करने के लिए दालचीनी का सेवन एक रामबाण उपाय है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करती है, जिससे मोटापा नहीं बढ़ता। इसके लिए दालचीनी की चाय बहुत फायदेमंद है। एक चम्मच दालचीनी पाउडर को एक गिलास पानी  में उबालकर लें। इसके बाद उसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर सुबह नाश्ता करने से आधा घंटा पहले पियें। रात को सोने से पहले अगर इसका सेवन किया जाये तो  दुगुना फायदा होता है, और अतिरिक्त चर्बी धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है।




#      सिर दर्द-  अगर सर्दी या हवा के कारण सिर में दर्द हो गया है तो दालचीनी के पावडर का लेप बना कर माथे पर लगाने से फायदा मिलता है। गर्मी के कारण होने वाले सिरदर्द में दालचीनी  और तेजपत्ते को मिश्री के साथ चावल के पानी में पीसकर सूंघने से सिरदर्द दूर हो जाता है। इसके अलावा दालचीनी के तेल की कुछ बूंदें, तिल के तेल में मिलाकर सिर पर मालिश करने से भी सिरदर्द ठीक हो जाता  है।

दालचीनी को पानी में रगड़कर कनपटी पर गर्म लेप करने से भी आराम मिलता है। नियमित रूप से शहद और दालचीनी का सेवन करने से तनाव से राहत मिलती है, साथ ही स्मरणशक्ति भी बढ़ती है।

#     सौंदर्य में वृद्धि – त्वचा और बालों के सौंदर्य में भी दालचीनी पीछे नहीं है। यह त्वचा को निखारने के साथ ही झुर्रियों को भी कम करती है। दालचीनी पाउडर में नीबू के रस को मिलाकर लगाने से मुंहासे व ब्लैकहैड्स दूर होते हैं। एक निम्बू के रस में दो बड़े चम्मच जैतून का तेल, एक कप चीनी, आधा कप दूध, दो चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पांच मिनट के लिए शरीर पर लगाएं। इसके बाद नहा लें, त्वचा खिल उठेगी और सुन्दर दिखेगी । शहद और दालचीनी के पेस्ट को रात को सोते वक्त चेहरे पर लगाएं और सुबह गर्म पानी  से धो लें, इससे चेहरा कांतिमय हो जाता है। गंजेपन या बालों के गिरने की समस्या के लिए जैतून के गर्म तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर का पेस्ट बनाकर इसे सिर में लगाए और पंद्रह मिनट बाद धो लें।




दालचीनी के इन सभी फायदों को देख कर ही इसको मसलो की रानी कहा जाता है क्योकि शायद ही कोई बीमारी ऐसी होगी जिसमे दालचीनी फायदा न करे I

#     ह्रदय रोग –  जब भी हम हार्ट से सम्बंधित किसी भी तरह की दिक्कत में होते है तो हार्ट  को स्वस्थ बनाए रखने और हार्ट के रोगों पर नियंत्रण रखने में दालचीनी बहुत ही  सहायक होती है, क्योंकि यह हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकती है। हररोज शहद और दालचीनी का गर्म पानी के साथ सेवन करने से भी आपको बहुत सारे लाभ मिलेंगे । आप दालचीनी और शहद के मिश्रण को रोटी के साथ भी खा सकते हैं। इसके अलावा दालचीनी को चाय में डालकर भी ले सकते हैं। इसके प्रयोग से हार्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है।

#    गठिए से राहत – गठिया में हमारे शरीर के सभी जोड़ों में हर वक्त दर्द होता रहता है तो जोड़ों में दर्द होने पर दालचीनी का प्रयोग आपको राहत देता है। इसके लिए प्रतिदिन दालचीनी का गर्म पानी में सेवन करना चाहिए और दालचीनी के हल्के गर्म पानी की दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से भी जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।इसके पानी को एक महीने तक सेवन करने से चलने फिरने में असमर्थ लोग भी चलने में सक्षम हो जाते हैं।

#    पित्ते(galblader )का  इन्फेक्शन :– इस औषधि से गालब्लैडर का इन्फेक्शन भी दूर हो जायेगा | अगर आप सामग्री की मात्रा को बढ़ाना चाहते हो तो 2 चम्मच दालचीनी और एक या दो चम्मच शहद को  उबले हुए पानी में डाल कर भी सेवन कर सकते है | शहद को गर्म नहीं करना है पानी उबालने के बाद शहद मिक्स करना है I




#     सर्दी-खांसी –  सर्दी, खांसी या गले की तकलीफों में दालचीनी बेहद असरकारक दवा के रूप में काम करती है। दालचीनी को  पीसकर एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी मात्रा में खाने से जुकाम में लाभ मिलता है। आप गर्म या गुनगुने पानी में दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं। दालचीनी के पाउडर को पिसी हुई काली मिर्च के साथ सेवन करने से भी राहत मिलती है। इससे पुराने से पुराने  कफ में भी राहत मिलेगी।

#      पेट के रोग- अपच, गैस, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर लेने से आराम मिलता है। इससे उल्टी-दस्त की समस्या में भी लाभ होता है, और भोजन का पाचन भी बेहतर होता है। शहद और दालचीनी के पावडर का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।

#     कैंसर- दालचीनी का प्रयोग करने से  कैंसर जैसे रोग पर भी नियंत्रण पाना संभव हो गया है। वैज्ञानिकों ने अमाशय के कैंसर और हड्डी के बढ़ जाने की स्थति में दालचीनी और शहद को लाभदायक बताया है। एक महीने तक गर्म पानी में दालचीनी पाउडर और शहद डाल कर इसका सेवन करने से बेहद फायदा होता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है, जिससे शरीर बीमारियों से लड़ सके |




#     मोटापा – मोटापे को ख़त्म करने के लिए दालचीनी का सेवन एक रामबाण उपाय है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करती है, जिससे मोटापा नहीं बढ़ता। इसके लिए दालचीनी की चाय बहुत फायदेमंद है। एक चम्मच दालचीनी पाउडर को एक गिलास पानी  में उबालकर लें। इसके बाद उसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर सुबह नाश्ता करने से आधा घंटा पहले पियें। रात को सोने से पहले अगर इसका सेवन किया जाये तो  दुगुना फायदा होता है, और अतिरिक्त चर्बी धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है।

#    सिर दर्द-  अगर सर्दी या हवा के कारण सिर में दर्द हो गया है तो दालचीनी के पावडर का लेप बना कर माथे पर लगाने से फायदा मिलता है। गर्मी के कारण होने वाले सिरदर्द में दालचीनी  और तेजपत्ते को मिश्री के साथ चावल के पानी में पीसकर सूंघने से सिरदर्द दूर हो जाता है। इसके अलावा दालचीनी के तेल की कुछ बूंदें, तिल के तेल में मिलाकर सिर पर मालिश करने से भी सिरदर्द ठीक हो जाता  है।दालचीनी को पानी में रगड़कर कनपटी पर गर्म लेप करने से भी आराम मिलता है। नियमित रूप से शहद और दालचीनी का सेवन करने से तनाव से राहत मिलती है, साथ ही स्मरणशक्ति भी बढ़ती है।




#     सौंदर्य में वृद्धि – त्वचा और बालों के सौंदर्य में भी दालचीनी पीछे नहीं है। यह त्वचा को निखारने के साथ ही झुर्रियों को भी कम करती है। दालचीनी पाउडर में नीबू के रस को मिलाकर लगाने से मुंहासे व ब्लैकहैड्स दूर होते हैं। एक निम्बू के रस में दो बड़े चम्मच जैतून का तेल, एक कप चीनी, आधा कप दूध, दो चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पांच मिनट के लिए शरीर पर लगाएं। इसके बाद नहा लें, त्वचा खिल उठेगी और सुन्दर दिखेगी । शहद और दालचीनी के पेस्ट को रात को सोते वक्त चेहरे पर लगाएं और सुबह गर्म पानी  से धो लें, इससे चेहरा कांतिमय हो जाता है। गंजेपन या बालों के गिरने की समस्या के लिए जैतून के गर्म तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर का पेस्ट बनाकर इसे सिर में लगाए और पंद्रह मिनट बाद धो लें।

दालचीनी के इन सभी फायदों को देख कर ही इसको मसलो की रानी कहा जाता है क्योकि शायद ही कोई बीमारी ऐसी होगी जिसमे दालचीनी फायदा न करे



दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!!





Check Also

औजार का साइज और बिस्तर पर तहलका मचाने की पावर बढ़ाने के नैचरली टिप्स, इस तरिके से जितना चाहते हो औजार का उतना साइज बढ़ाओ

Share this now औजार से जुडी सभी तरह की समस्याओं जैसे साइज और पावर बढ़ाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »