Recent Updates
Home / Beauty / धात गिरने व शीघ्रपतन का रामबाण घरेलू इलाज – dhat girne ka ilaj

धात गिरने व शीघ्रपतन का रामबाण घरेलू इलाज – dhat girne ka ilaj

Share this now

www-onlyinayurveda-com-2




धात गिरने व शीघ्रपतन का रामबाण घरेलू इलाज – dhat girne ka ilaj
Download our Mobile App for all Video: – https://goo.gl/txgp3K
Find us on Facebook: – https://facebook.com/healthsolution.co.in
हर व्यक्ति की जिंदगी शिशुवस्था से शरू हो कर बुढ़ापे में ख़त्म हो जाती है हर व्यक्ति की लाइफ में चार stages आती है -शिशुवस्था ,बाल्यावस्था ,किशोरावस्था और वृद्धावस्था I शिशुवस्था और बाल्यावस्था तो माता पिता की छत्रछाया में बड़ी ही आसानी से बीत जाती है लेकिन किशोरावस्था और वृद्धावस्था में बड़ी ही मुसीबतो का सामना करना पड़ सकता हैं I वृद्धावस्था और किशोरावस्था में से किशोरावस्था एक ऐसी अवस्था है जिसमे हमे हर कदम पर सावधानी बरतनी पड़ती है I अगर इस अवस्था में हम सयंम और समझ से काम नहीं लेते है तो आगे आने वाली लाइफ में हमे अनेक मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है  For More Visit https://onlyinayurveda.com



मोजे पहनकर सोने के इन चमत्कारिक फायदे जान कर हैरान रह जायेंगे आप …HEALTH BENEFITS OF SLEEPING WITH SOCKS





दोस्तों आज के समय में हमारे देश के नौजवानों में जितनी सेक्स से सम्बंधित समस्याएं देखने को मिलती है वे समस्याएं पहले कम ही दिखाई देती थी I इन समस्याओ में एक समस्या है धातु या धात का गिरना| अक्सर यह समस्या देखी जाती है कि बच्चो को जवानी में कदम रखते ही धात रोग हो जाता है ये समस्या पहले नहीं आती थी, आजकल ज्यादा आती है यह समस्या इसलिए आती है क्योंकि नौजवान शादी से पहले ही अपने मन में सेक्स को लेकर चिंतित रहते हैं, दिन भर सोचते रहते हैं, जिस कारण उनका वीर्य अपने स्थान से चलायमान हो कर मूत्रमार्ग के द्वारा बाहर आने लगता है, सही फ्लो ना होने के कारण वो बाहर निकल नहीं पाता और बूँद बूँद या तार तार करके यही फिर पेशाब के साथ या बैठे बैठे निकल जाता है. कई बार इतनी कमजोरी भी आ जाती है कि किसी लड़की के बारे में सोचने मात्र से या बात करने मात्र से धोती गीली हो जाती है.




दोस्तों आज हम Crazy India की तरफ से एक ऐसी रामबाण औषधि लेकर आया हु जो आपकी धात गिरने व शीघ्रपतन की समस्या को जड़ से खत्म कर देगी तो आइये जानते है इस रामबाण औषधि के बारे|
औषधि को तैयार करने की विधि :-

बबूल की बिना बीजों की फली को छाया में सुखा लीजिये, तकरीबन 15 ग्राम, तालमखाना 8 ग्राम, और बीजबंद 3 ग्राम और मिश्री 35 ग्राम. इन सबको पीसकर छान लीजिये. चूर्ण बना लीजिये

सेवन की विधि :-
सवेरे नाश्ते से एक घंटा पहले इस चूर्ण को फांक कर ऊपर से देसी गाय का दूध 250 ग्राम पी लीजिये. इस प्रयोग से सभी प्रकार के प्रमेह और धात रोग नष्ट होते हैं|

दोस्तों आप इस जानकारी को समाज हिट में अधिक से अधिक Share करे जिससे सभी मेरे भाई इस Video को देखेकर अपने लिया फायदा उठा सके



धात गिरने व शीघ्रपतन का रामबाण घरेलू इलाज – dhat girne ka ilaj
अधिक जानकारी के लिए आप इस विडियो को देखे और अधिक से अधिक शेयर करे





Check Also

अदरक से करे शरीर की बड़ी से बड़ी बीमारियों का इलाज

Share this now    आज कल के खाने से हम बीमार हो जाते है और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »