Recent Updates
Home / Health / Allergy / डेंगू बुखार के लक्षण और बचाव के उपाय | Home Remedies For Dengue Fever In Hindi | Dengue Bukhar ke upya

डेंगू बुखार के लक्षण और बचाव के उपाय | Home Remedies For Dengue Fever In Hindi | Dengue Bukhar ke upya

Share this now

डेंगू फीवर के लक्षण कारण और इससे बचने के उपाय | Dengue Bukhar ke upya
दोस्तों आजकल डेंगू बुखार चिकनगुनिया जोर शोर से फैल रहा है न्यूज़ पेपर अखबार आदि में बुखार से संबंधित अनेकों खबरें ऐसी मिल जाती है जो हमें अंदर से हिला कर रख देती है जिनमें डेंगू चिकनगुनिया मलेरिया आदि खतरनाक बुखार है जिनके बारे में सभी को जानकारी होना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर हमें किसी भी बीमारी की जानकारी होगी तो हम उससे बचने के उपाय आसानी से कर सकते हैं आज इस वीडियो में हम आपको डेंगू बुखार के कारण लक्षण और बचने के उपाय बताने जा रहे हैं आइए सबसे पहले जानते हैं डेंगू बुखार क्या होता है For More Visit https://onlyinayurveda.com



डेंगू बुखार क्या होता है | What is Dengue Fever

डेंगू (Dengue) एक वायरस से होने वाली बीमारी का नाम है जो एडिस नामक मच्छर की प्रजाति के काटने से होती है इस मच्छर के काटने पर विषाणु तेजी से मरीज के शरीर में अपना असर दिखाते हैं जिसके कारण व्यक्ति को तेज बुखार और सिरदर्द जैसी समस्या होने लगती है इसे ब्रेक बोन बुखार यानी हड्डी तोड़ बुखार भी कहते हैं | डेंगू होने पर मरीज के खून में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से घटती है जिसके कारण कई बार जान भी जा सकती है यहां पर एक बात और बता दे कि डेंगू बुखार छूने से नहीं फैलता यह एक इंसान से दूसरे इंसान को भी नहीं फैलता डेंगू बुखार केवल मच्छर काटने से होता है |



10 मिनटों में खूबसूरत दिखने के आसान घरेलू नुस्खे – एक हफ्ते में चेहरे को गोरा करें | Beauty Tips For Face in Hindi





Dengue Season, डेंगू सीजन:-
आइए जानते हैं डेंगू किस मौसम में ज्यादा फैलता है गर्मी और बारिश के मौसम में यह बीमारी तेजी से फैलती है डेंगू के मच्छर हमेशा साफ पानी में ही पनपते हैं और मलेरिया के मच्छर गंदे पानी में है | इसलिए खुला पानी चाहे वह साफ हो या गंदा दोनों ही हमारे लिए खतरनाक होते हैं इसलिए हमें कहीं पर भी पानी को जमा नहीं होने देना चाहिए डेंगू मच्छर दिन में ज्यादा सक्रिय होते हैं यह मच्छर ज्यादा ऊपर तक नहीं उड़ पाते तकरीबन व्यक्ति के घुटनो तक ही उड़ पाते हैं |

अब जानते हैं डेंगू के लक्षण सिंपटम्स ऑफ़ डेंगू-

डेंगू के लक्षण Symptoms Of Dengue:-

1. सबसे पहले तेज ठंड और बुखार

2. कमर मांसपेशियों, जोड़ों और सिर में अत्यधिक तेज दर्द

3. थकावट भूख ना लगना

4. कमजोरी

5. उल्टी और दर्द

6. शरीर पर लाल रंग के दाने उभर जाना

7. गले में दर्द और मरीज को तेजी से खांसी हो जाती है

अब आप जानना चाहते होंगे कि क्या डेंगू जानलेवा बीमारी है तो आइए दोस्तों जानते हैं कि डेंगू जानलेवा बीमारी है या नहीं :-




दोस्तों ऐसा नहीं है कि डेंगू होने से मरीज की मौत ही हो जाए ज्यादातर मामलों में डेंगू मच्छर के काटने से या तो बुखार होता है वह भी हल्का सा या फिर हो सकता है डेंगू मच्छर के काटने पर किसी की बॉडी पर कोई असर भी ना हो | लेकिन हमें हर स्थिति में सावधान रहना चाहिए क्योंकि- सावधानी ही बचाव है|

डेंगू बुखार तीन प्रकार का होता है :-

1. Classical Dengue Fever (क्लासिकल डेंगू फीवर)

2. Dengue Homorrhagic Fever यानी डी एच एफ

3. Dengue shock Syndrome Fever डेंगू शॉक सिंड्रोम यानी डी एस एस

loading…



क्लासिकल डेंगू बुखार होने से कभी भी किसी की जान नहीं जाती यह साधारण इलाज से ठीक भी हो जाता है लेकिन डी एच एफ और डी एस एस यह दोनों ही बुखार होने पर तुरंत इलाज कराना चाहिए क्योंकि अगर लापरवाही बरती तो खतरा बढ़ सकता है

दोस्तों अब जानते हैं कैसे पता करे कि डेंगू हुआ है या नहीं-

कैसे पता करे कि डेंगू हुआ है या नहीं-




अक्सर किसी को भी बुखार होने पर लोग घबरा जाते हैं कि शायद डेंगू बुखार हो गया है | अब हम आपको बताते हैं कि कैसे पता लगाएं डेंगू हुआ है या नहीं दोस्तों बदलते मौसम में या फिर ठंड आदि के कारण भी बुखार हो जाता है लेकिन बुखार होते ही हमारे मन में सबसे पहले डेंगू का ही खतरा याद आता है | लेकिन जो लक्षण ऊपर आपको बताएं हैं अगर उन लक्षणों में से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर सबसे पहले N S 1 टेस्ट कराना चाहिए इसी टेस्ट की रिपोर्ट के अनुसार पता लगता हैं कि मरीज को डेंगू हुआ है या फिर नहीं

रोज 2 कप अदरक का पानी पिएं-मोटापा घटायें और चमत्कारी फ़ायदे भी पाएँ | Amazing benefits of Ginger water in Hindi

 

अब जानते हैं डेंगू का इलाज-

डेंगू का इलाज Treatment Of Dengue:-

वैसे तो डेंगू का पता चलते ही इसका इलाज डॉक्टर द्वारा किया जाता है लेकिन कुछ सावधानियां अपनाकर आप इसके खतरे को टाल सकते हैं या फिर कम कर सकते हैं जैसे:-

1. बुखार होने पर रोगी को Disprin औरAsprin की गोली कभी नहीं देनी चाहिए |

2. रोगी को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ दें ताकि उसके शरीर में पानी की कमी ना पड़े |

3. रोगी को पेरासिटामोल की गोली दी जा सकती है |




4. रोगी को नारियल का पानी पिलाना चाहिए |

5. मरीज को ज्यादा से ज्यादा आराम देना चाहिए |

6. घर में किसी भी बर्तन में फालतू का पानी जमा न होने दें |

7. कूलर फ्रिज में पानी जमा न होने दें और उस को हमेशा साफ रखें |

8. शाम होने से पहले ही खिड़कियां दरवाजे बंद कर दे |

9. कपड़े ऐसे पहने जो सारे शरीर को ढक कर रखें |

10. घर में व आसपास कीटनाशक का छिड़काव करें |

11. अगर बॉडी के किसी पार्ट पर कपड़े ना हो जैसे कि हाथ व पैर, इन पर नारियल का तेल लगा दे |

दोस्तों अगर आपको हमारा लेख पसंद आए तो Please इस लेख को अपने Google Plus, Facebook या Twitter Account पर जरुर शेयर करें क्योंकि हो सकता है इस पोस्ट को शेयर करने से आप किसी की जान बचा सके |
धन्यवाद

loading…


Check Also

अगर आप भी जाते है जिम तो आज से ही अपनी डाइट में करे इन खाद्य पदार्थो को शामिल, लोग आपसे जरूर पूछेंगे आपकी सेहत का राज क्या है ???

Share this nowअगर आप भी चाहते है अपने शरीर को फिट बनाना तो आज से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »