Recent Updates
loading...
Home / Health / Dengue / जानिए आजकल फ़ैल रहे डेंगू के रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक नुश्खा … Home Remedies for Dengue Fever in Hindi

जानिए आजकल फ़ैल रहे डेंगू के रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक नुश्खा … Home Remedies for Dengue Fever in Hindi

Share this now


दोस्तों आज हम आपके लिए जो टॉपिक लाये है वो डेंगू के बारे में है |जानिए आजकल फ़ैल रहे डेंगू के रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक नुश्खा …|तो आज हम आपको इस वीडियो में बताएंगे की डेंगू कैसे फैलता है और इसके क्या लक्षण है और इसकी रोकथाम के लिए उपाय |तो मैं आपसे विनती करती हु की आप इस वीडियो को आखिर तक जरूर देखे ताकि आपको इस वीडियो से कुछ जानकारी मिल सके |जैसे ही बरसात का मौसम ख़त्म होता है और सर्दी शुरू होने लगती है डेंगू तेजी से फैलने लगता है |भारत में हर साल दस करोड़ लोग डेंगू का शिकार होते है For More Visit https://onlyinayurveda.com



डेंगू  के कारण कई लोगो की मौत भी हो जाती है |डेंगू एक मच्छर से काटने वाला सक्रामक रोग है |अगर हमें इसके बारे में सही जानकारी हो तो तो हम इस रोग को जड़ से ख़त्म कर सकते है |और इसके लिए हमें आसपास अपने घरो की सफाई रखनी पड़ती है और कही भी पानी को जमा होने नहीं देना है |अब हम बताते है की डेंगू फीवर क्या है |डेंगू एक तरह का वायरल है जो डेंगू वायरस से होता है |ये फीवर साथ खाने ,छुने,हवा व पानी से नहीं फैलता है |

डेंगू फीवर सक्रमित स्त्री/मादा जाती के एडीज aegypti नमक मच्छर के काटने से होता है |जब किसी को भी डेंगू फीवर होता है ये मच्छर काटकर उस व्यक्ति का खून पीता है और उस मच्छर में डेंगू वायरस चला जाता है |और जब ये मच्छर किसी भी स्वस्थ व्यक्ति  को काटता है तो डेंगू का वायरस उस व्यक्ति में चला जाता है और उसे डेंगू फीवर हो जाता है |



छोड़िये बड़े हुवे यूरिक एसिड से घबराना और अपनाये इन आयुर्वेदिक नुस्खों को …. | Uric acid ka gharelu ilaj | uric acid ki dawa





डेंगू का मच्छर दिन में जायदा एक्टिव रहता है और ये जयादा ऊपर नहीं उड़ सकता है और इसके शरीर पर चीते जैसी लाइन्स होती है |ये अँधेरे ठण्ड वाली जगह और परदे के पीछे और घर में रखे हुवे पानी में भी होते है और ये साफ़ पानी में अपना लार्वा छोड़ते है जिससे डेंगू मच्छर जायदा फैलता है |अगर कही पानी खड़ा हो और फिर सुख जाता है तब भी इस मच्छर के अंडे बारह महीने तक जीवित रहते है |

डेंगू फीवर के लक्षण -अगर डेंगू मच्छर काट जाता है तो इसके लक्षण तीन से चार दिनों बाद दिखाई देते है |तेज ठण्ड लगकर बुखार आना ,सिरदर्द ,आँखों में दर्द ,बदन व जोड़ो में दर्द ,भूख कम लग्न ,उलटी व जी मिचलना ,दस्त लग्न ,स्किन पर लाल निशान आना ,जायदा डेंगू फीवर होने पर नाक व आँख में से खून भी आने लगता है |डेंगू फीवर की कोई भी विशेष दवा नहीं बनी है इसके लिए हमें रोग से लड़ने के लिए इम्यून पावर स्ट्रांग करना पड़ता है और हमें आराम करना होता है और बुखार उतरने के लिए पैरासिटामोल लेना होता है और सिरदर्द या बदन दर्द को दूर करने के लिए आप ब्रूफेन या फिर एस्प्रिन न ले |डॉक्टर के अनुसार अपने प्लेटलेट काउंट की जांच करवाते रहे |संतुलित  आहार व पानी जयदया मात्रा में पीना चाहिए |डॉक्टर द्वारा दी गए दवा समय पर ले |




———————————————————————-
Follow us on social :-
Facebook page — https://goo.gl/sgzLwk
Twitter —- https://twitter.com/crazyindia132
Mobile App Health India :- https://goo.gl/txgp3K
Mobile App Only in Ayurveda :- https://goo.gl/eyzcBd
———————————————————————————————–

loading…



अब हम इसके लिए आयुर्वेदिक इलाज भी बताते है :-

# आप एलोवीरा का रस  ,गेहू के ज्वारे का रस ,पपीते के पत्तो का रस ,व गिलोय का रस इन सबका एक एक चम्मच रस ले और इन सबको मिलाकर इनका रस पिए और इसे आप दिन में दो से तीन बार पि सकते है जो आपको बहुत ही फायदा पहुंचाएंगे और इसके प्रयोग से आपके प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ने लग जाएगी |

# आप गिलोय का रस का आध कप ले और इसमें दो से तीन चम्मच शहद मिलाकर पिए इससे एक तो आपमें जो खून की कमी है वो पूरी हो जाएगी और साथ में डेंगू फीवर से हुवे प्लेटलेट्स की कमी भी पूरी हो जाएगी |

# आप थोड़ी सी गिलोय ले और पांच से छ पत्ते तुलसी के ले और इसे एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल ले और जब आधा गिलास रह जाये तो इस काढ़े को डेंगू से पीड़ित मरीज को पिलाये |

# आप पपीते के पत्तो का रस भी निकलकर मरीज को पिला सकते है |,मगर ये अभी तक पूरी तरह से साबित नहीं हो पाया है मगर इसके प्रयोग से बहुत से मरीजों को फायदा तो मिला है |



# आप घर में त्तुलसी का पौधा जरूर लगाए क्योकि तुलसी की खुसबू से डेंगू का मच्छर नहीं फैलता है और इससे दूर भागता है |

देखा दोस्तों कैसे हम कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों की द्वारा डेंगू से बच सकते है मगर डेंगू का पता आपको शुरू में ही पता लगे तब ही करना मगर जब भी डेंगू हो तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करे |और इसके अलावा कुछ बत्तो का भी धयान रखे जैसे घर के आसपास पानी ना जमा होने दे |किसी भी बर्तन में पानी न जमा करके राखे और हमेशा बर्तन को ढककर रखे घर के आसपास कीटनाशक दवाई का छिड़काव जरूर करे |कूलर में पानी जमा न रहने दे हर रोज ही कूलर का पानी बदलते रहे |खुली जगह ,गमलो ,टायरों,आदि में पानी जमा न होने दे |

अगर कही भी पानी जमा हो तो उस पर मिटटी डाल दे |रात में पूरी बाजु वाले कपडे पहन कर सोये |और मच्छरदानी लगाकर सोये |रात में बच्चो को मॉस्क्वीटो क्रीम लगाकर सुलाए |अगर आसपास कोई भी डेंगू का मरीज हो तो तुरंत आसपास के हॉस्पिटल व नगर पालिका को संपर्क करे |और समय समय पर खून दान करते रहे क्योकि डेंगू के मरीज की प्लेटलेट्स कम हो जाती है और उसको खून की जरूरत पड सकती है |इसलिए हमारे खून दान करनी से किसी की जान भी बच सकती है |

 



Check Also

मेथी के चमत्कारी फायदे जानकर आप हैरान रह जायेंगे|| Health Benefits of Fenugreek Leaves / Seeds

Share this now नहीं जानते होंगे आप कसूरी मेथी के इन फायदों को Health Benefits …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »