Recent Updates
Home / Business / क्या आप जानते है ? हार्ट अटैक के कुछ ऐसे संकेत जो महीने पहले दिखाई देते है Symptoms of Heart Attack

क्या आप जानते है ? हार्ट अटैक के कुछ ऐसे संकेत जो महीने पहले दिखाई देते है Symptoms of Heart Attack

Share this now

जानिए , हार्ट अटैक के कुछ ऐसे संकेत जो महीने पहले दिखाई देते है

जानिए , हार्ट अटैक के कुछ ऐसे संकेत जो महीने पहले दिखाई देते है Symptoms of Heart Attack
दोस्तों आज हम आपके लिए एक बहुत ही महत्वपूरण टॉपिक लाये है हार्ट अटैक के विषय में |जानिए , हार्ट अटैक के कुछ ऐसे संकेत जो महीने पहले दिखाई देते है |दोस्तों कई लोग सोचते है हार्ट अटैक एक ऐसी बीमारी है जो कही भी और कभी भो हो सकता है |मगर ऐसा नहीं है हार्ट अटैक के कुछ लक्षण हमें महीने पहले ही दिखाई पड़  जाते है |आज हमारे भारत में मधुमेह व हार्ट अटैक के रोगियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जिससे असमय मोतो की संख्या भी बढ़ती जा रही है | For More Visit https://onlyinayurveda.com



पहले के समय में कोई कोई व्यक्ति होता था जिसे हार्ट अटैक की समस्या होती थी मगर आज हर घर में कम से कम एक व्यक्ति इस बीमारी से पीड़ित है इसका मुख्या कारण  है आजकल की तनाव व भागदौड़ वाली जिंदगी व हमारा खानपान जिससे ये बीमारी बढ़ती जा रही है |बहुत से लोगो को तो हार्ट अटैक के लक्षणों को पहचान ही नहीं पाते या फिर पहचान कर भी अनजान बन जाते है जिसकी हमें बहुत ही बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है |हार्ट अटैक आने से पहले कुछ लक्षण एक महीने पहले ही दिखाई देने लगते है अगर हमें इसके बारे में जानकारी होगी तो हम इस समस्या से बच सकते है |परन्तु आज ज्यादातर साइलेंट हार्ट अटैक से होने वाली मोते भी देखी जाती है |हार्ट अटैक इसलिए होता है क्योकि दिलतक खून पहुँचाने वाली किसी एक या एक से अधिक धमिनयों में जमे वसा के थक्के के कारण रुकावट आ जाती है |




थक्के के कारण खून का प्रवाह रुक जाता है |अगर खून नहीं मिलता तो दिल की मासपेशियो को ऑक्सीजन की कमी हो जाती है |यदि जल्दी ही खून के प्रवाह को ठीक न किया जाये दिल की मासपेशियो की गति रुक जाती है |कई बार तो दिल के दौरे थक्के के फट जाने की वजह से भी होती है |कई बार तो ऐसा होता है हम मरीज को हॉस्पिटल तक भी नहीं ले जा पाते और रास्ते में ही मौत हो जाती है |ऐसा इसलिए होता हार्ट अटैक के जो laks हाँ एक महीने पहले दिखाई देते है उन्हें हम इग्नोर कर देते है |कई बार हार्ट अटैक के लक्षण स्पष्ट दिखाई नहीं देते और ऐसे साइलेंट हार्ट अटक कहते है जोकि बेहद खतरनाक होता है |अगर हमारी छाती में हल्का सा दर्द होता है तो तुरंत डॉक्टर को तुरंत दिखाना चाहिए |तो आइये जानते है वे कौन से लक्षण है जो महीने पहले ही दिखाई देते है :



सभी दवाइयों का बाप है कच्चा केला Health Benefits Of Raw Banana in Hindi Must Watch





# बेवजह की थकन होना -अगर हमारे शरीर में बिना कोई काम किये ही थकान आये तो समझ लेना चाहिए की कुछ तो गड़बड़ है |दरअसल ह्रदय की धमिनिया कॉलस्ट्रॉल के कारण बंद हो जाती है या फिर सिकुड़ जाती है जिससे दिल को कार्य करने म काफी मेहनत करनी पड़ती है जिससे थकान ज्यादा आती है | यह कारण हार्ट अटैक का भी हो सकता है |या काम के दौरान थकान के साथ साथ सांस लेने में भी तकलीफ हो तो इसे इग्नोर किये बिना तुरंत डॉक्टर को दिखाए |

# सीने में दवाब व बेचैनी या जकडन होना -अगर हमें ऐसा लगे की हमारी छाती में कुछ दवाब ,बेचैनी ,दर्द व भारीपन  हो रहा है तो या फिर ऐसे लगे की जकड़न हो रही है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाए |अगर अलग अलग हिस्सो में भी जकडन हो तो ऐसे भी इग्नोर न करे |बाजु ,कमर या गर्दन में भारीपन ,दर्द आदि नहीं होना चाहिए नहीं तो ये जकडन या दर्द दिल तक पहुँच जाता है |ऐसे हलके में न ले डॉक्टर के पास जरूर जाये |

# बदहजमी -अगर आपको लगातार बदहजमी या फिर पाचन से सम्बंधित समस्याएं लगातार हो रही हो तो ऐसे नजरअंदाज न करे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे |




# अगर आपको लगातार सर्दी व जुकाम की शिकायत रहती हो समाज जाना चाहिए की आपका इम्यून सिस्टम बिगड़ गया है अर्थार्त रोगों से लड़ने की ताक़त कम हो गए है ऐसे में आपको हार्ट की समस्या हो सकती है तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे |

# सूजन आना -अगर किसी को पैर,हाथो या फिर पेडू पर सूजन दिखाई दे तो समझ जाना चाहिए की आपका हार्ट ठीक तरह से शरीर के सभी आंगो को रक्त पहुँचाने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ रही है |तब शरीर में मौजूद शिराये फूल जाती है और सूजन आती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे |

# जरुरत से ज्यादा पसीना आना भी हार्ट अटैक का कारण भी हो सकता है |अगर हम ज्यादा एक्सरसाइज करते है या फिर ज्यादा गर्मी में पसीना आना आम बात है अगर बिना वजह से पसीना आये तो समझ लेना चाहिए की कुछ गड़बड़ है |सामान्य से ज्यादा पसीना आना समझ लेना चाहिए की आपका दिल खतरे में है दरअसल आपके दिल को कार्य करने में काफी मेहनत करनी पड़ रही है और इस प्रेशर में शरीर का तापमान सामान्य बनाये रखने के लिए पसीना ज्यादा आता है जोकि हार्ट अटैक का कारण हो सकता है |




# कई बार हमारी धड़कन या पल्स बहुत असामान्य रूप से तेज चलने लगती है इस पर भी बहुत ही धयान देना जरुरी है ये भी हार्ट अटैक का कारण हो सकता है |

# घबराहट -अगर हम लगातार तनाव व चिंता से ग्रस्त रहते है और कई बार बहुत ही घबराहट होने की वजह से हम रात तो सोते हुवे अचानक उठ जाते है ऐसे हलके में न ले ये भी हार्ट अटैक का कारण हो सकता है |

# चक्कर आन आ-अगर आपका दिल कमजोर है तो इससे रक्त संचार प्रभावित होता है जिससे दिमाग को आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन नहीं मिल पाती जिससे चक्कर आने लगते जो हार्ट अटैक का भी कारण हो
सकता है |




दोस्तों ये थे हार्ट अटैक के लक्षण जिन्हें आप इग्नोर न करे |इसके अलावा आप कुछ सावधानी बरते जैसे अगर किसी को अचानक हार्ट अटैक आये तो तुरंत हॉस्पिटल ले जाये |अगर कही तुरंत मुंकिन न हो तो मरीज को हर दस सेकंड में तेज खस्ने की कोशिश करे खाँसने से मरीज के दिल पर दवाब पड़ता है और खून का प्रवाह दिल की तरफ तेज होने लगता है |खाँसने के बाद लंबी व गहरीसांस लेनी चाहिए |क्योकि दिल की धड़कन बढ़ने व बेहोशी आने में केवल दस सेकंड लगते है |इस प्रक्रिया से आपको काफी राहत मिलती है |

इसके अलावा आप साइकिलिंग ,वाकिंग हर रोज करे ,धूर्मपान व शराब का सेवन बंद करे |अधिक तला हुवा भोजन न खाये ,नमक बिलकुल नामात्र खाये |अच्छी नींद ले कम से कम दिन में सात से आठ घंटे नींद ले |चाय व कॉफ़ी से परहेज रखे |अगर चाय पीने के मन हो तो ग्रीन टी पिए |और रोजना आठ से दस गिलास पानी पिए |दोस्तों आप हार्ट अटैक के इन संकट को पहचाने और इन सवधजनियो को धयान में रखे तो आप हार्ट अटैक से बच सकते है |








Check Also

ये जूस हाई ब्लड प्रेशर से होने वाली हार्ट अटैक जैसी 20 बीमारियों को कर देगा जड़ से खत्म….

Share this nowहार्ट अटैक,स्ट्रोक व ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए संजीवनी है चुकंदर का जूस……… …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »